How elderly NRI trapped Young Girl Via Facebook

मोगा शहर से क़त्ल और ब्लैकमेल का ऐसा मामला सामने आया है जहाँ क़ातिल 60 साल का बूढ़ा है और मकतूल 18 साल की एक लड़की है। मामले की तफ्तीश कर रही पंजाब पुलिस भी हैरत में है की आखिर साढ़े 18 साल की विवाहिता की उम्र में लगभग 3 गुणा बड़े शख्स के चंगुल में कैसे फंस गई और फिर उसी अधेड़ पति ने ही उसकी हत्या क्यों कर दी। तफ्तीश में सामने आया है कि दोनों की मुलाक़ात फेसबुक पर हुई थी दिर दोनों करीब 3 साल तक एक-दूसरे के संपर्क में रहे। बाद में लड़की की शादी हो गई।लेकिन 18 साल की लड़की के प्यार में पागल हो चुके इस अधेड़ आदमी ने पूरे शहर में ये पोस्टर चिपकवा दिया की लड़की के घर वाले पैसों के खातिर उससे देहव्यापार करवाते हैं। पोस्टर और बदनामी के डर से लड़की के पति ने उसको तलाक़ दे दिया, जिसके बाद बुड्ढे ने लड़की और उसके परिवार को ब्लैकमेल किया और तलाक के लिए मजबूर कर तीन महीने पहले खुद शादी कर ली। खुद को एनआरआई बताने वाले इस बुजुर्ग मंगलवार रात आईसक्रीम और जूस में नशा देकर बेहोशी की हालत में तकिये से मुंह दबाकर हत्या कर दी और फरार हो गया।

लड़की की माँ जसविंदर कौर ने बताया कि उसकी बेटी गुरप्रीत कौर की शादी आठ महीने पहले रिंपल सिंह के साथ शादी की थी। यही गुरप्रीत के लन्दन वाले फेसबुक दोस्त 60 वर्षीया ओमप्रकाश शर्मा को पता चला तो उसने गुरप्रीत कौर की फोटो के साथ ससुराल और मायके दोनों तरफ जगह-जगह पोस्टर चिपका बेइज्जती करनी शुरू कर दी कि उसके घर वाले उससे धंधा करवाते हैं। बदनामी के डर से गुरप्रीत कौर को उसके पति रिंपल ने पंचायती तलाक दे दिया। इसके बाद गुरप्रीत कौर से ॐ प्रकाश ने गुरुद्वारे में शादी कर ली।
जिसके बाद उसकी 8 साल की बेटी गुरप्रीत कौर और 60 साल का दामाद ओमप्रकाश मायके में ही रह रहे थे। गुरप्रीत कौर अक्सर ओमप्रकाश को खुद को विदेश ले जाने की बात कहती थी तो दोनों में झगड़ा होता था और वह हत्या करके विदेश भाग जाने की धमकी देता था। मंगलवार शाम फिर से उसी विदेश जाने के मसले पर विवाद हुआ था। माहौल थोड़ा ठंडा होने के बाद रात 10 बजे ओमप्रकाश बाजार से जूस और आईसक्रीम लेकर आया। खा-पीकर दोनों सो गए। इसके बाद सुबह करीब 6 बजे जब वह बेटी को जगाने के लिए गई तो दामाद ओमप्रकाश बिस्तर पर नहीं था, जबकि गुरप्रीत कौर की नाक से खून बह रहा था। कई कोशिशों के बावजूद कोई हलचल नहीं हुई और फिर डॉक्टर को बुलाया तो उसने गुरप्रीत कौर को मृत घोषित कर दिया।

मृतका के परिजनों की शिकायत पर दामाद ओमप्रकाश के खिलाफ हत्या का केस दर्ज करने के बाद आरोपी की तलाश शुरू कर दी गई है।

%d bloggers like this: